CRPF जवान ने वीडियो जारी कर दिया धमकी, इंसाफ नहीं मिला तो बन जाऊंगा 'पान सिंह तोमर'

छत्तीसगढ़ में तैनात और यूपी के हाथरस के रहने वाले सीआरपीएफ के एक जवान का वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। इस वीडियो में सीआरपीएफ के इस जवान ने धमकी दी है कि अगर उसकी फरियाद नहीं सुनी गई तो वो 'पान सिंह तोमर' के नक्शेकदम पर चल पड़ेगा। दरअसल सीआरपीएफ के इस जवान का कहना है कि उसके पैतृक गांव में खेत की जमीन के विवाद में प्रशासनिक अधिकारी उचित कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। आपको बता दें कि पान सिंह तोमर भारतीय सेना का एक जवान था, जो अपने जमीनी विवाद में प्रशासनिक अधिकारियों की तरह से कार्रवाई ना होने के चलते डाकू बन गया था। 

परिवार के सदस्यों को दी मारने की धमकी
loading...
3.39 मिनट की इस वीडियो क्लिप में सीआरपीएफ जवान प्रमोद कह रहा है, 'मेरे तीन चाचाओं ने मेरी खेती की जमीन पर कब्चा कर लिया है। मेरी पत्नी और मेरे भाई ने हाथरस तहसील में इस मामले की शिकायत की, लेकिन तीन महीने बीत जाने के बाद भी प्रशासन ने इसे लेकर कोई कार्रवाई नहीं की। जब मैंने इस मामले की जानकारी अपने कमांडेंट साहब को दी तो उन्होंने हाथरस के एसपी और डीएम को चिट्ठी लिखकर मामले में कार्रवाई करने के लिए कहा, लेकिन इस बात को भी आज तीन महीने हो गए हैं और ना तो मुझे हाथरस प्रशासन की तरफ से कोई जवाब मिला और ना ही मेरे कमांडेंट साहब को।' प्रमोद ने आरोप लगाया है कि उसके चाचा ने उसके परिवार के सदस्यों को मारने की धमकी दी है और इसलिए वह पिछले चार महीनों से छुट्टी पर भी नहीं गया है।

'लापता है मेरा एक भाई'

वीडियो में प्रमोद ने आगे कहा, 'उन लोगों ने मेरे दो भाइयों और भाभी को बुरी तरह पीटा। उनके साथ मारपीट करने के बाद, उन्होंने मेरे एक भाई को मरा हुआ समझकर छोड़ दिया, जबकि मेरा दूसरा भाई अभी भी लापता है। मैं ये भी नहीं जानता कि मेरा वो भाई जिंदा भी है या नहीं।' अपने वायरल वीडियो में प्रमोद ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी मामले में जांच कराने की अपील की है। प्रमोद का कहना है कि सब कुछ जानने के बावजूद, हाथरस पुलिस मामले में कुछ नहीं कर रही है और राजनीतिक प्रभाव के चलते उसके चाचाओं का साथ दे रही है।

'मैं पान सिंह तोमर भी बन सकता हूं'
सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो में प्रमोद कह रहे हैं, 'मैं राष्ट्र का एक सैनिक हूं, मैं कोई गलत कदम नहीं उठाना चाहता, लेकिन जब मैं देश के लिए अपनी जान कुर्बान कर सकता हूं, तो अपने भाइयों के लिए मैं पान सिंह तोमर भी बन सकता हूं। जय हिंद।' मामले को लेकर सुकमा के कलेक्टर चंदन कुमार ने बताया, 'मैंने हाथरस में प्रशासनिक अधिकारियों से बात की है, और उन्होंने मामले को लेकर हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया है। हाथरस कलेक्टर ने कहा है कि वह इस मामले की तुरंत जांच करवाएंगे और यह सुनिश्चित करेंगे कि राष्ट्र की सेवा करने वाले जवान के साथ किसी तरह का कोई अन्याय ना हो।' इस बीच, छत्तीसगढ़ के डीजीपी डीएम अवस्थी ने भी कहा कि उन्होंने इस मुद्दे पर सीआरपीएफ के वरिष्ठ अधिकारियों से बात की है और उनसे इस मामले का निस्तारण करने के लिए कहा है।