एक ही दिन बाप और बेटा हुए भगवान को प्यारे, जानिए ऐसा क्या हुआ

loading...
महोबा जिले के थाना महोबकंठ के ग्राम गड़ौरा में घर में विवाद होने से नाराज एक युवक ने झांसी-मानिकपुर रेल लाइन पर बेलाताल स्टेशन के पास सुबह दस बजे ट्रेन से कटकर जान दे दी। उधर नाराज बेटे को रेलवे ट्रैक की तरफ जाने की जानकारी मिलने पर पिता उसे खोजता हुआ रेलवे ट्रैक पार करने लगा। उसी समय अचानक शाम को चार बजे ट्रेन की चपेट में आने से उसकी भी मौत हो गई। पिता-पुत्र की मौत से घर में कोहराम मच गया है।
थाना महोबकंठ के ग्राम गड़ौरा निवासी कंदीलाल (33) मजदूरी करता है। सोमवार को किसी बात को लेकर उसकी घर में कहासुनी हो गई। इससे नाराज होकर उसने गोंची के पुल से पास ट्रेन से कटकर जान दे दी। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे बेेलाताल चौकी प्रभारी दिनेश सिंह ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतक के भाई रामकुमार ने बताया कि वह दिल्ली में मजदूरी करता है और दिल्ली जाने की बात कहकर निकला था।
बेटे के नाराज होकर घर से निकलने पर पिता सुंदरलाल (60) उसकी तलाश में निकल पड़ा। पहले गांव में तलाश करता रहा। बाद में कुछ ग्रामीणों ने वृद्ध को बताया कि उसका बेेेटा रेलवे ट्रैक की तरफ जा रहा था। पिता भी रेलवे ट्रैक की तरफ बेटे को खोजने के लिए निकल पड़ा। जैसे ही वह रेलवे ट्रैक पर पहुंचा उसी समय ट्रेन आ गई लेकिन वृद्ध को कानों से सुनाई न पड़ने के कारण वह ट्रेन की चपेट में आ गया। जिससे उसकी ट्रेन से कटकर मौत हो गई।