जब कोतवाल के सिर पर चढ़कर बैठा बंदर और 20 मिनट तक ढूंढ़ता रहा जुएं, जानिए फिर क्या हुआ

इन दिनों पीलीभीत में बंदरों ने जमकर आतंक फैला रखा है. मंगलवार सुबह एक बंदर कोतवाली के अंदर घुस आया. जब तक लोग कुछ समझ पाते बंदर कोतवाल के सिर पर चढ़कर बैठ गया. इसके बाद आधे घंटे तक कोतवाली का नजारा ये रहा कि कोतवाल चुपचाप काम करते रहे और उनके सिर पर बैठा बंदर आराम से जुएंं ढूंढता रहा. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है, जिसके बाद पूरे शहर में कोतवाल और बंदर की चर्चा हो रही है.
loading...
मामला पीलीभीत की सदर कोतवाली का है. सुबह से बंदर कोतवाली परिसर में जमकर उत्पात मचा रहे थे. एक बंदर कोतवाल श्रीकांत द्विवेदी के ऑफिस में घुसा और कोतवाल के सिर पर चढ़कर बैठ गया. कोतवाल के सिर पर बंदर बैठने से कोतवाली परिसर में हड़कंप मच गया. कोतवाल के सिर पर बंदर बैठने से कोतवाल की जान पर आफत आ गई. किसी की हिम्मत नहीं हुई कि बंदर को कोतवाल के साथ से हटा दें. लगभग 20 मिनट तक बंदर कोतवाल के सिर पर बैठकर जुएं ढूंढ़ता रहा.

कोतवाल करते रहे गुजारिश मगर नहीं उतरा
इस दौरान कोतवाल विन्रमता से बार-बार बंदर को उतरने की गुजारिश करते रहे. लगभग 20 मिनट बाद बंदर अपने आप ही कोतवाल के सिर से उतरकर कोतवाली परिसर में लगे पेड़ पर चढ़ गया. बंदर के उतरते ही कोतवाल ने राहत की सांस ली. गनीमत यह रही कि बंदर ने कोतवाल साहब को किसी तरीके की हानि नहीं पहुंचाई. कोतवाली में सिपाहियों और कोतवाल की जान में जान आई.