गर्लफ्रेंड के टुकड़े-टुकड़े कर दिए बॉडी पार्ट्स, अब मिली 100 साल की सजा

मिशीगन में पिछले वर्ष एक ऐसे अपराध के बारे में दुनिया का पता चला था जो न सिर्फ खौफनाक था बल्कि जिसने भी इसके बारे में सुना उसके रोंगटे खड़े हो गए थे। मामला अमेरिका के मिशीगन के तहत आने वाले ग्रैंड रैपिड्स का था और अब इस मामले के दोषी को जो सजा सुनाई गई है, उसे सुनकर आपकी रूंह कांप जाएगी। इस अपराध को अंजाम देने वाले 30 साल के शख्स को 100 से 200 साल तक की कैद सुनाई गई है। जज ने भी फैसला सुनाते हुए कहा कि यह ऐसा मामला है जिसमें वह दोषी को उतना ही तड़पाना चाहते हैं जितना उसने पीड़‍िता को तड़पाया। 

यंग से मिलने आई थी गर्लफ्रेंड
loading...
ग्रैंड रैपिड्स की केंट काउंटी सर्किट कोर्ट में 10 अक्‍टूबर को जैरेड चांस को 31 साल की एश्‍ले यंग की हत्‍या में 130 साल तक की सजा सुनाई गई है। चांस ने सेकेंड डिग्री मर्डर और फिर बॉडी को पूरी तरह से क्षत-विक्षत करने का दोषी है। उसने अपने फ्रैंकलिन स्‍ट्रीट के एसई अपार्टमेंट में यंग की हत्‍या की थी। यंग, चांस से मिलने के लिए आई थीं जब उनकी हत्‍या की गई। उनकी बांह और पैर एक डिब्‍बे मिले थे और लेकिन उनका सिर, हाथ और यहां तक कि उनका टखना आज तक पुलिस को नहीं मिल सका है।

पॉलिथिन में लिपटा था धड़
अपार्टमेंट के बेसमेंट में एक पॉलिथिन में लिपटा सिर्फ उसका धड़ दो दिसंबर को पुलिस को मिल सका था। चांस ने यंग के सिर पर गोली मारी थी। चांस और यंग ने इस घटना से पहले साथ में सिगरेट भी पी थी। चांस ने पुलिस को बताया था कि घटना वाले दिन वह अपने माता-पिता के साथ हॉलैंड में था। वह पुलिस को यह बताता आ रहा था कि उसके पिता इलिनियॉस में पुलिस ऑफिसर हैं और पुलिस उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकती है। एश्‍ले की हत्‍या हो चुकी थी और उनकी मां क्रिस्‍टीन अपनी बेटी के लिए बहुत परेशान थीं। वह बार-बार अपनी बेटी को मैसेज कर रही थीं। लेकिन कुछ भी जवाब नहीं मिल रहा था।

मां ने किया पुलिस को फोन
बेटी हमेशा मां के मैसेज का जवाब देती थी। वह अपनी मां से मिलने के लिए जाने वाली थीं। इसके बाद क्रिस्‍टीन ने पुलिस को कॉल किया और ग्रैंड रैपिड्स आने को कहा। वह जानती थी कि उनकी बेटी जैरेड से मिलने जाने वाली थीं। जैरेड अपने घर पर बड़ा सा बॉक्‍स और काले रंग का प्‍लास्टिक बैग लेकर आया था लेकिन इसके बाद भी किसी ने उससे कोई सवाल नहीं किया था। पुलिस को यही बॉक्‍स बेसमेंट में मिला था और जिसके बाद जैरेड पर शक गहरा गया था। मारियो नेल्‍सन नामक एक व्‍यक्ति ने पुलिस को सबसे पहले फोन किया था।

जज ने कहा तुम्‍हें तड़पता हुआ देखना है
मारियो ने पुलिस को बताया था कि बेसमेंट से बहुत बदबू आ रही है। दो दिसंबर को उन्‍होंने बॉडी देखी। बेसमेंट में खून ही खून था और वह बहुत घबरा गए थे। जज मार्क ट्रूसोक ने कहा कि वह चाहते हैं कि जब तक जैरेड की उम्र 130 साल की नहीं हो जाती तब तक वह पेरोल पर हरगिज न रहे। उन्‍होंने यह भी कहा कि जैरेड ने एक ऐसे क्राइम को अंजाम दिया है जो निर्ममता की हदों से भी बाहर है। उसने यंग की मां से भी झूठ बोला और यह जानते हुए कि वह अपनी बेटी के जाने के गम से परेशान हैं, मनगढ़ंत कहानियों के जरिए अपने अपराध को छिपाया।