PGI में रात को खुद चलने लगती है व्हील चेयर, रात को ड्यूटी नहीं करना चाहता है कोई भी स्टाफ

loading...
सोशल मीडिया में एक हफ्ते से एक वायरल वीडियो ने नेहरू एक्सटैंशन के स्टाफ में डर पैदा कर दिया है। यह वीडियो अस्पताल के सी.सी.टी.वी. का ही है। वीडियो में रात को एक व्हीलचेयर अपने आप ही चलने लगती है। वीडियो वायरल होने के बाद न सिर्फ नर्सिंग स्टाफ बल्कि सिक्योरिटी स्टाफ भी रात की शिफ्ट करने से कतरा रहा है। स्टाफ शार्टेज के बावजूद नेहरू एक्सटैंशन को शुरू कर दिया गया। पी.जी.आई. में पहले ही नर्सिंग स्टाफ की कमी कई साल से बनी हुई है 
नेहरु अस्पताल के नए बने एक्सटेंशन में फिलहाल 11 स्टाफ को नियुक्त किया गया है, जो दिन के वक्त 42 मरीजों की देखरेख कर रहा है। जबकि रात के वक्त यहां 2 लोगों का स्टाफ ही काम कर रहा है। पी.जी.आई. नर्सिंग एसोसिएशन के जरनल सैकेट्री सत्यवीर डागर कहते हैं कि पी.जी.आई. में 2572 पोस्ट सैंक्शन हैं, जिसमें से 250 से ज्यादा पोस्ट पिछले 4 साल से खाली हैं। स्टाफ कम होने के कारण मौजूदा स्टाफ पर काम का प्रेशर बहुत ज्यादा है। ऐसे में इसका खामियाजा मरीजों को भुगतना पड़ सकता है। स्टाफ ने पी.जी.आई. एडमिनिस्ट्रेशन को भी लिखित में कहा है कि अगर इसका सॉल्यूशन जल्द नहीं निकाला गया तो वह कोई बड़ा कदम लेंगे।

10 साल से नहीं किया ऑफिशियली परर्मानेंट 
नियम कहते हैं कि 2 साल बाद प्रोविशन पीरियड होता है जिसके बाद इम्लाई को परर्मानेंट कर दिया जाता है लेकिन पी.जी.आई. में 1400 नर्सिंग स्टाफ ऐसा है जिन्हें 10 साल से ऑफिशियली परर्मानेंट नहीं किया गया है। पी.जी.आई. नर्सिंग एसोसिएशन के मुताबिक कई साल से वह इस मुद्दों को लेकर एडमिनिस्ट्रेशन से बात कर रहे हैं, लेकिन बावजूद इसके कोई एक्शन नहीं लिया जा रहा। एसोसिएशन के जरनल सैकेट्री सत्यवीर डागर के कहते है कि पिछले साल दिसम्बर में हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन ने उन्हें एक महीने का वक्त दिया था उन्हें भरोसा दिया गया कि उन्हें ऑफिशियली परर्मानेट किया जाएगा।