मिठाई खिलाने आए ‘IAS’ साहब ने ऐसा क्या किया कि हुए गिरफ्तार, पुलिस के कॉल पर पत्नी भी हुई कंफ्यूज

loading...
मध्यप्रदेश के जबलपुर में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। जबलपुर एसपी अमित सिंह को एक कथित आईएएस अधिकारी मिठाई खिलाने के लिए फोन किया। उन्होंने कहा कि मैं इस वक्त दफ्तर में नहीं हूं, थोड़ी देर बाद लौटूंगा। जबलपुर एसपी अमित सिंह जब अपने दफ्तर लौटे तो युवक कुछ कागजात और मिठाई लेकर उनसे मिलने पहुंचा। युवक का नाम अभिषेक कुमार साहा है जो मध्यप्रदेश के ही सिंगरौली का रहने वाला है। 
युवक ने एसपी अमित कुमार सिंह को कुछ कागजात दिखाए और कहा कि मैं 2018 बैच का आईएएस अधिकारी हूं। साथ में उन्हें भारत सरकार के कैबिनेट सेक्रेटरी का साइन किया हुआ एक अप्वाइंटमेंट लेटर भी दिखाया। इसके अलावे 2018 के आईएएस टॉपरों की सूची भी दिखाई। जिसमें 608 नंबर अपना बताया। उसमें अभिषेक कुमार लिखा हुआ था। लेकिन एसपी अमित सिंह को अभिषेक कुमार साहा की बातों पर यकीन नहीं हुआ। 
तो उन्होंने उससे कई सवाल जवाब किए जिसका वह जवाब नहीं दे पाया। अमित सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जो यूपीएसएसी क्वालिफाई करते हैं उनका पहले फाउंडेशन कोर्स होता है और वो कोर्स लाल बहादूर शास्त्री एकेडमी में शुरू हो गया है। उसके बाद एसपी ने उसका मोबाइल चेक किया। जिसमें इसने मोटिवेशनल बातें लिखी थीं और कई लोगों को शेयर करते हुए लिखा था कि आईएएस बनने की कठिन तपस्या है। 
उसके बाद एसपी अमित सिंह इसके जानने वालों से बात की तो लोगों ने बताया कि ये खुद को बैतूल जिले का अपर कलेक्टर बताता है। साथ ही लोगों से नौकरी के नाम पर ठगी करता था। एसपी ने कहा कि हम इसकी जांच कर रहे हैं। इसको पुलिस कस्टडी में ले लिया गया है। साथ ही यह भी जांच करेंगे कि यह नौकरी दिलाने के नाम पर कितनों के साथ ठगी की है। उन्होंने कहा कि ये खुद में एक बड़ा मामला है कि नकली आईएएस अधिकारी एक असली एसपी को आकर मिठाई खिला रहा है। 
एडिशनल क्राइम एसपी भी इससे पूछताछ करेंगे। जबलपुर एसपी ने कहा कि इस युवक के परिवारवालों से भी बात हुई है। इसके पिता बहुत ही सीधे हैं। उन्हें यह दिल्ली की तैयारी को लेकर जाने की बात कह कर निकला है। वहीं, इसकी वाइफ के पास जब पुलिसवालों ने फोन किया तो वह यह सब सुनकर कंफ्यूज हो गई। हालांकि इसके दोस्तों ने बताया कि यह खुद को आईएएस अधिकारी ही बताता था।