पत्नी रहती थी हमेशा परेशान, एकदिन पति को ही बनाया शिकार और फिर जो हुआ

सुलतानपुर जिले के कादीपुर थाना क्षेत्र के जफरपुर गांव से जुड़ा है। जहां के रहने वाले हरिशंकर यादव ने सीजेएम कोर्ट में अपनी बहू के खिलाफ अर्जी दी। आरोप के मुताबिक उसकी बहू सुमन यादव का व्यवहार विवाह के बाद से ही ससुरालीजनों के प्रति ठीक नहीं था। सुमन हमेशा ही अपनी सास व पति अनिल यादव समेत अन्य को किसी न किसी बहाने अपमानित करती व झगड़ती रहती थी।
loading...
कुछ दिनों बाद पति अनिल यादव के परिवार व सुमन के बीच बात इतनी बढ़ गयी कि सुमन मायके चली गई और मामला कोर्ट तक पहुंच गया। करीबियों के हस्तक्षेप के बाद दोनों के बीच कुछ महीनों बाद सुलह भी हुई और सुमन फिर से अपनी ससुराल में रहने लगी। अभियोगी के मुताबिक इतना कुछ होने के बाद भी उसकी बहू सुमन का व्यवहार नहीं बदला और वह अक्सर परिवार में बवाल ही मचाये रहती थी।
एक दिन सुमन अपने बच्चे को पीट रही थी,जिस पर उसकी सास ने विरोध जताते हुए पिटाई करने से मना किया तो सुमन ने अपनी सास से अभद्र व्यवहार किया। जिसकी जानकारी मिलने पर अनिल यादव ने अपनी पत्नी सुमन को डांटा और उसके मायके वालों को भी सूचना दी। जिसके बाद पहुंचे सुमन के पिता ने उसे काफी समझाया-बुझाया। अभियोगी के मुताबिक इन सब बातों की टीस सुमन के मन में बनी रही और उसने बीते 21 जून को अपने पति को ही रास्ते से हटाने का मूड बनाकर में जहर मिलाकर धोखे से उसे पिला दिया।
पीने के कुछ देर बाद अनिल की तवीयत बिगडऩे लगी और उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया,जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस मामले में थाने से लेकर एसपी आफिस तक सूचना दी गयी,लेकिन मुकदमा दर्ज नहीं हो सका। मृतक अनिल के पिता ने अपनी बहू को करनी का फल दिलाने के लिए कोर्ट की शरण ली। जिस पर संज्ञान लेते हुए सीजेएम हरीश कुमार ने मामले में आरोपी पत्नी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर तफ्तीश के लिए कादीपुर थानाध्यक्ष को आदेशित किया है।