भारी बारिश से परेशान लोगों ने करा दिया मेंढक और मेंढ़की का तलाक, अभी कुछ महीने पहले ही करवाई थी शादी

मध्यप्रदेश में हर साल अच्छी बारिश के लिए मेंढक और मेंढ़की की शादी पूरे विधि विधान से करवाई जाती है। इसी परंपरा का पालन करते हुए इस साल भी अच्छी बारिश के लिए मानसून की शुरुआत में मेंढक और मेंढ़की की शादी करवाई गई, लेकिन इस बार कहानी में ट्विस्ट आ गया। जी हां, मध्यप्रदेश के लोगों ने पहले अच्छी बारिश के लिए मेंढक और मेंढ़की की शादी करवाई, लेकिन अब जब बारिश अपने उफान पर है, तो लोगों ने तलाक करवा दिया। इतना ही नहीं, जिस तरह से शादी विधि विधान से हुई थी, उसी तरह से सारे रीति रिवाज के साथ तलाक भी करवाया गया है।
loading...
भारत के कोने कोने में कई ऐसी परंपराएं या अनूठी चीज़ होती है, जिसके बारे में लोग जानकर हैरान हो जाते हैं और इसी कड़ी में मध्यप्रदेश में मेंढक और मेंढ़की की शादी भी शामिल है। मान्यता के अनुसार, यदि बारिश के मौसम के शुरु होने से पहले ही मेंढक और मेंढ़की की शादी करवा दी जाती है, तो बारिश काफी अच्छी होती है, जिसकी वजह हर साल की तरह से इस बार भी शादी कराई गई। हालांकि, इस बार भारी बारिश से मध्यप्रदेश की जनता व्याकुल हो उठी है, जिसकी वजह से उन्होंने मेंढक और मेंढ़की का तलाक करवाने का फैसला लिया।

मेंढक और मेंढ़की का करवाया गया तलाक
कुछ महीने पहले ही अच्छी बारिश के लिए मध्यप्रदेश के लोगों ने बड़े ही धूमधाम से मेंढक और मेंढ़की की शादी करवाई थी, लेकिन इस बार बारिश ने नाक में दम कर दिया, जिसकी वजह से सभी लोगों ने मेंढक और मेंढ़की का तलाक करा दिया। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो बारिश से परेशान होने की वजह से वहां लोग अंधविश्वास का सहारा ले रहे हैं, जिसकी वजह से अब मेंढक और मेंढ़की का तलाक करा दिया गया है, जिसके बाद माना जा रहा है कि बारिश से उन्हें राहत मिल सकती है।
मध्यप्रदेश के लोग हर बार बारिश के लिए इसी अंधविश्वास का सहारा लेते हैं, जिसकी वजह से हर बार विधि विधान से मेंढक और मेंढ़की की शादी करवाई जाती है। लोगों का मानना है कि ऐसा करने से उनके राज्य में बारिश अच्छी होती है और इससे राहत मिलती है, लेकिन इस बार पहली बार तलाक कराया गया है, क्योंकि मध्यप्रदेश में ज़रूरत से ज्यादा बारिश हो रही है और कई इलाके बाढ़ के चपेट में आ गए हैं। मतलब साफ है कि मध्यप्रदेश के लोग बारिश के लिए अंधविश्वास का सहारा ले रहे हैं।
बताते चलें कि इस बार मध्यप्रदेश में लगातार मूसलाधार बारिश हो रही है, जिसकी वजह से कई इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति बन चुकी है, ऐसे में लोग बारिश से काफी ज्यादा परेशान हो गए हैं। बता दें कि बारिश को रोकने के लिए लोगों ने मेंढक और मेंढ़की का तलाक कराके उनके मिट्टी की मूर्ति को अलग अलग करके पानी में विसर्जित कर दिया है, जिसके बाद उम्मीद लगा रहे हैं कि अब बारिश रुक जाएगी, लेकिन यह सिर्फ अंधविश्वास है, जिसे बढ़ावा नहीं देना चाहिए।