इस हालात में भी मिल गया प्रेमिका का प्रेम पत्र, लिखी थी ऐसी बातें कि अधिकारियों की छूटी हंसी

यूपी के जेलों में मनमानी और आपत्तिजनक सामान मिलने की खबरों के बीच मिर्जापुर जिला जेल की जांच की गई। डीएम अनुराग पटेल, एसपी अवधेश पांडेय ने खुद जेल पहुंचकर निरीक्षण किया। इस दौरान एक बंदी के पास से प्रेमिका का लिखा हुआ प्रेम पत्र मिला, जिसमें कुछ ऐसा लिखा था कि पढ़कर अधिकारियों की भी हंसी छूट गई। पढ़ने के बाद डीएम ने बंदी को प्रेम पत्र वापस कर दिया। अधिकारियों ने बंदियों के पास जेल से मिलने वाले सामान को अपने पास न रखने और बाहर से आपत्तिजनक सामान ना आने का निर्देश दिया है। जेल में 332 की जगह 836 कारागार में बंद मिले। इसमें 83 महिला बंदी थीं।

जानिये क्या लिखा था प्रेमिका के प्रेम पत्र में
loading...
डीएम व एसपी ने सबसे पहले बैरक नंबर पांच व छह का निरीक्षण किया। बैरक में एक बंदी के कागजात का निरीक्षण किया तो उसमे प्रे‌मिका का प्रेम पत्र मिला। जानकारी के मुताबिक, लेटर में प्रेमिका ने प्रेमी से कई बार माफी मांगते हुए लिखा है कि यह सच है कि आप हमें माफ नहीं करेंगे और करना भी नहीं चाहिए लेकिन यह भी सच है कि हम सिर्फ आपसे प्यार करते हैं। तनाव लेने की कोई जरुरत नहीं है और जल्द ही आपको जेल से आजादी मिल जाएगी। प्रेमिका ने लिखा कि हालाता कुछ ऐसे बने कि हम आपसे बात नहीं कर सके, आपकी नाराजगी वाजिब है। प्रेमिका ने बार-बार प्रेमी को अपना खयाल रखने के बारे में भी लिखा है।

​बंदी के पास से ही मिली सिंदूर की डिब्बी, बैडमिंटन
इसके बाद बंदी के पास सिंदूर की डिब्बी मिलने पर बताया गया कि पूजा के लिए रखा गया है। तन्हाई कक्ष तीन में पुदीना, बाल्टी, मग और बैडमिंटन पाया गया। कक्ष चार, पांच व छह में निरीक्षण करने पर साबुन, पेस्ट, तेल व शैंपू पाया गया। एक कैदी के पास से पांच किलो प्याज, ए‌क किलो सोयाबीन, दो किलो चावल, व लहसुन पाया गया। डीएम ने कहा कि जो सामान जेल में भोजन के साथ मिल रहा है, वह रखने की अनुमति नहीं है। सामान जब्त कर जेलर को सौंप दिया गया।