बच्चे को दिया जन्म और फिर हो गई माँ की मौत, परिवार वालों ने डॉक्टर पर लगाया कठोर इल्जाम

जमशेदपुर बिष्टुपुर स्थित एक निजी अस्पताल में जुड़वा बच्चों को जन्म देने के बाद मां पूजा झा की मौत मामले में चिकित्सकीय लापरवाही बरते जाने की बात सामने आई है। जांच रिपोर्ट आने के बाद बिष्टुपुर थाने में चिकित्सक एसके प्रसाद पर मुकदमा दर्ज किया गया है। पूजा झा ने विगत छह मार्च को सर्जरी के बाद जुड़वा बच्चों को जन्म दिया था और 7 मार्च को अस्पताल में ही उसकी मौत हो गई। तत्कालीन उपायुक्त अमित कुमार ने मामले की जांच के लिए तीन सदस्यी चिकित्सकों की टीम गठित की थी। 
loading...
डॉ. एसके भगत, डॉ. बी साहा और डॉ. वीणा सिंह की टीम ने अपनी जांच रिपोर्ट सौंप दी है जिसमें कहा गया है कि पूजा झा की मौत के बाद शव का पोस्टमार्टम नहीं कराया गया। इससे मृत्यु का सही कारण नहीं बताया जा सकता लेकिन जांच में पाया गया कि अस्पताल में ऑपरेशन व इलाज के दौरान सही प्रोटोकाल का पालन नहीं हुआ जो अस्पताल की लापरवाही को दर्शाता है। पूजा झा गर्भवती होने के बाद प्रसव पूर्व जांच उसी अस्पताल में करा रही थी। वहां के डॉक्टरों द्वारा पूजा की चिकित्सकीय स्थिति सही बताई जा रही थी। पांच मार्च को डिलीवरी के लिए उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। छह मार्च को शाम तीन बजे सर्जरी के बाद उसने जुड़वा बच्चों को जन्म दिया। ऑपरेशन के दौरान ही अचानक उसकी स्थिति नाजुक हो गई। 

आइसीयू इंचार्ज डॉ. एस पाल ने इलाज किया और उसे मैकेनिकल वेंटीलेटअर पर रखा गया। सात मार्च को साढ़े ग्यारह बजे अचानक मरीज की स्थिति नाजुक हो गई और कॉर्डियाक अरेस्ट हो गया। पूजा को बचाया नहीं जा सका। जांच रिपोर्ट के अनुसार पांच मार्च को ऑपरेशन थिएटर ले जाने तक उसकी कोई जांच नहीं की गई जो कॉमन ऑपरेशन प्रोसीजर के विरुद्ध है। परिजनों से सीरियस इलनेस के फार्म पर हस्ताक्षर कराए गए। पूजा की मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल में हंगामा किया। बिष्टुपुर थाने की पुलिस को बुलाया गया लेकिन शव का पोस्टमार्टम नहीं कराया गया।

डॉक्टरों ने कहा जांडिस से हुई मौत, परिजनों ने किया इससे इनकार
बागबेड़ा निवासी रमन झा की पत्‍‌नी पूजा झा की विगत सात मार्च को हुई मौत के बाद परिजनों का आरोप था कि सबकुछ सामान्य होने के बावजूद जबरन आपरेशन किया गया। चिकित्सकों की लापरवाही के कारण मौत हो गई। उस समय मौत का कारण पीलिया बताया गया था। हालांकि परिजनों से इस बात से अनभिज्ञता जताई है। घटना के बाद से रमन झा डिप्रेशन में है। मामले में आश्चर्यजनक बात यह भी है कि पूजा झा के शव का पोस्टमार्टम भी नही कराया गया था। रमन झा के भाई सुमन झा कार्रवाई की मांग को लेकर वरीय पुलिस अधीक्षक अनूप बिरथरे से मिले। बताया कि भाई की हालत खराब है। परिवार बिखर गया है। जिस बच्चे ने जन्म लिया है वह मां के प्यार से वंचित है। पुलिस प्राथमिकी दर्ज नहीं कर रही। एसएसपी ने बिष्टुपुर थाना के इंस्पेक्टर को मामले में उचित कार्रवाई का आदेश दिया है। बिष्टुपुर इंस्पेक्टर राजेश कुमार सिन्हा ने बताया प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है।