मां को बेहोश करके रात में घर से निकली, और सुबह था कुछ ऐसा मंजर..!

इटावा जिले में बकेवर के इकघरा गांव के किनारे बने आंबेडकर पार्क में शनिवार सुबह प्रेमिका का खून से लथपथ शव पड़ा मिला। पास ही में घायल अवस्था में प्रेमी भी पड़ा था। प्रेमिका के चचेरे भाई की सूचना पर पुलिस ने प्रेमी को अस्पताल पहुंचाया।
दोनों पर धारदार हथियार से हमला किया गया था। लेकिन पुलिस को मौके पर कोई हथियार नहीं मिला है। प्रेमिका के पिता की तहरीर पर प्रेमी के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। हालात को देखते हुए ऑनर किलिंग की भी चर्चाएं चल रही हैं।
मधु के पिता ने पुष्पेंद्र के विरुद्ध हत्या का मुकदमा भले दर्ज कराया हो लेकिन हालात ऑनर किलिंग की ओर भी इशारा कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि यदि पुष्पेंद्र ने हत्या करके खुद को चाकू मारा होता तो चाकू मौके पर मिलना चाहिए था। आखिर चाकू गया कहां  इससे लगता है कि वारदात में किसी तीसरे का हाथ है। 
मौका-ए-वारदात पर सबसे पहले किशोरी का चचेरा भाई राहुल पहुंचा। उसे भी चाकू नहीं मिला। फिर चाकू ले कौन गया। इससे आशंका होती है कि वारदात में कोई तीसरा शामिल है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट और पुष्पेंद्र के बयानों के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी। 
पुलिस को मौके पर दो मोबाइल फोन और पुष्पेंद्र का पर्स मिला है। पर्स में किशोरी के कई फोटो रखे थे। एक फोटो में दोनों एक दूसरे के गले में बाहें डालें हैं। उस फोटो में किशोरी के मांग में सिंदूर भी लगाए है। थानाप्रभारी ने बताया है कि युवक और किशोरी दोनों के मोबाइल की कॉल डिटेल निकलवाकर जांच की जाएगी।
मधू की मां सुनीता देवी ने बताया है कि वह मुख्य दरवाजे पर ताला लगाकर सो रही थीं। रात में सोते वक्त मधू ने उन्हें कुछ सुंघाकर बेहोश कर दिया। इसके बाद ताला खोलकर प्रेमी से मिलने गई थी। सुनीता ने बताया है कि नशीले पदार्थ के कारण ही उनकी नींद सुबह देर से खुली। मधु बिस्तर पर नहीं थी और घर के दरवाजे की कुंडी भी खुली थी।