तेवर में तेजप्रताप यादव, बोले- 'मेरे और भाई के बीच कोई भी बोला तो चीर दूंगा'

तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव। राष्ट्रीय जनता दल अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के परिवार में दोनों भाइयों तेजप्रताप यादव और तेजस्वी यादव में संबंध तेजी से सामान्य हो रहे हैं। तेजप्रताप ने शुक्रवार को कहा, 'अर्जुन (तेजस्वी) किसी काम में व्यस्त हैं, अर्जुन ने हमें पार्टी के स्थापना दिवस समारोह में भेजा है। 
loading...
माता यशोदा के पास हम कृष्ण आ गए हैं, कृष्ण-अर्जुन बिल्कुल एकत्रित हैं, दोनों भाइयों में कोई मतभेद नहीं है।' तेजप्रताप ने कहा, 'लोग सोशल मीडिया पर बोलते हैं कि दोनों भाइयों में लड़ाई है। मैं कृष्ण हूं, वो अर्जुन है, जो कोई भी बोलेगा तो चीर देंगे। लोग बोलते हैं, हम लालू जी की नकल करते हैं। आंख खुलती है तो बच्चा मां-बाप का ही मुंह देखता है।'

तेजस्वी यादव का मजबूती से साथ देना है
वहीं तेजप्रताप यादव ने कहा, 'कुछ लोग हम लोगों को लड़ाने में लगे रहते हैं, सदन में भी हमारे भाई के खिलाफ अनाप-शनाप बोला जाता है। विरोधी कहते हैं कि तेजस्वी यादव भगोड़ा है, हम तेजस्वी के साथ खड़े हैं, तेजस्वी यादव का मजबूती से साथ देना है।'

लालू को जेल से बाहर निकालने के लिए खून का एक-एक कतरा बहाना है
अपने चिरपरिचित अंदाज में बोल रहे राजद नेता तेजप्रताप यादव ने आगे कहा, '2020 में हम विरोधियों को पटखनी देंगे। 2020 में हमें बड़ी लड़ाई लड़नी है, इसके लिए हमें मुस्तैद रहना है। कौन कहता है कि लालू जी हमारे बीच में नहीं हैं, सबके दिल में हैं लालू जी। बस महसूस करने की जरूरत है, लालू जी को जेल से बाहर निकालना है, इसके लिए खून का एक-एक कतरा बहाना है।'

हमारा हीरो सिर्फ तेजस्वी यादव है
2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान लालू के दोनों बेटों में लड़ाई ठन गई थी, किन्तु लोकसभा चुनाव के सातवें चरण से ठीक पहले लालू प्रसाद यादव के दोनों बेटे चुनावी मंच पर एक साथ दिखे थे। आरा में चुनावी सभा के दौरान तेजप्रताप यादव और तेजस्वी यादव ने मंच साझा किया था। आरा के जगदीशपुर में दोनों भाइयों ने संयुक्त रूप से जनसभा को संबोधित करते हुए विपक्षियों पर जमकर निशाना साधा था।

हम दोनों भाई करण-अर्जुन नहीं बल्कि कृष्ण-अर्जुन हैं
मंच से तेजप्रताप ने सारे गिले-शिकवे भुलाते हुए दोनों भाइयों को कृष्ण और अर्जुन का रूप बताया था। इस दौरान जब जनता के बीच से करण-अर्जुन की आवाज आई थी तो उस आवाज को नकारते हुए तेजप्रताप ने कहा कि हम दोनों भाई करण-अर्जुन नहीं हैं बल्कि हम दोनों कृष्ण और अर्जुन हैं। क्योंकि हम कृष्ण भगवान के वंशज हैं और हमारा हीरो केवल तेजस्वी यादव है।