घर वालों ने बेटी का किया बुरा हाल, अभी तीन दिन पहले ही किया था प्रेमी का भी यहीं हाल

अलीगढ़ में प्रेमी की कत्ल के तीसरे दिन बुधवार सुबह प्रेमिका को उसके घर के सदस्यों ने ही गोली मार दी। मरा समझकर लड़की को नहर किनारे फेंककर गायब हो गए। मजिस्ट्रेट को दिए गए बयान में लड़की ने माता-पिता और मामा को आरोपित किया हैं।अलीगढ़ में भर्ती लड़की की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही हैं।
मलावन थाना क्षेत्र के बहादुरपुर में नहर किनारे बुधवार सुबह करीब पांच बजे ग्रामीणों ने एक लड़की को लहूलुहान हालत में देख पुलिस को जानकारी दी।पुलिस उसे लेकर अस्पताल पहुंची।लड़की के गले में गोली लगी थीं।ये लड़की कोतवाली देहात क्षेत्र के गांव बारथर निवासी अफरोज की 20 वर्षीय पुत्री निशा हैं।पुलिस के अनुसार,मजिस्ट्रेट को दिए बयान में निशा ने बताया कि मंगलवार की रात्रि उसके पिता अफरोज,मां नूरजहां और मामा इशाक अलीगढ़ के लिए बाइक पर लेकर चले थे। 
गांव से करीब 15 किमी दूर बहादुरपुर में उसे रात्रि के अंधेरे में गोली मारकर फेंक गए।विदित हो कि अफरोज अलीगढ़ में प्रॉपर्टी डीलर का काम करता हैं।थाना प्रभारी मलावन विपिन त्यागी ने बताया कि प्राथमिक इलाज के बाद डॉक्टरों ने निशा को अलीगढ़ रेफर कर दिया।इस मामले में गांव बहादुरपुर निवासी पंकज तिवारी ने लड़की के माता-पिता और मामा के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई हैं।गांव बारथर में आरोपितों के घर ताले लटके हैं।
इसी बीच,पुलिस को जांच में मालूम चला कि निशा के अलीगढ़ स्थित हमदर्द नगर निवासी आमिर उर्फ छोटू से प्रेम संबंध थे।आमिर की तीन दिन पहले अलीगढ़ के सिविल लाइन इलाके में सिर में चोट पहुंचाकर कत्ल कर दी गई।प्रेम संबंध के आधार पर अलीगढ़ पुलिस को इस कत्ल के पीछे लड़की के सदस्य पर शक था।
मंगलवार रात्रि अलीगढ़ पुलिस ने बारथर गांव में दबिश भी दी थी,मगर कोई हत्थे नहीं चढ़ा था। अपर पुलिस अधीक्षक संजय कुमार ने बताया कि मामला ऑनर किलिग का है,दोहरी वारदात करने के बाद आरोपित गायब हैं।