धरने पर बैठे नेता जी फिर एसपी को देखकर पैर पकड़कर बोले 'साहब मेरे साथ इन लोगों ने किया बदसलूकी'

यूपी के मिर्जापुर जिले में वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाते हुए भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष व काशी क्षेत्र के मंत्री अनिल सिंह धरने पर बैठ गए। चालान कटवाने के बाद भी उन्होंने आरोप लगाया है कि पुलिस ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया। 
सूचना पर मौके पर ही भाजपा नगरपालिका अध्यक्ष समेत अन्य भाजपा नेता भी वहां मौके पर पहुंच गए। भाजपा नेता दुर्व्यवहार पर कार्रवाई की मांग करने लगे और सड़क पर बैठ गए। मौके पर एसपी अवधेश पांडेय पहुंचे तो अनिल सिंह उनके पैर छूकर रोने लगे। एसपी के समझाने पर अनिल सिंह धरने से उठे।

'पुलिस ने किया है हमसे दुर्व्यवहार'
भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष अनिल सिंह बाइक से विसुंदरपुर स्थित राज्यसभा सांसद रामसकल के आवास से लौट ही रहे थे की रास्ते में ही एएसपी सिटी प्रकाश स्वरूप पांडेय, सीओ सिटी सुधीर कुमार, शहर, कटरा, यातायात और महिला थाने की फोर्स वाहन चेकिंग कर रही थी। दोमुहिया के पास पुलिस ने अनिल सिंह की बाइक रोक लिया। हेलमेट न लगने पर चालान कराने के बाद अनिल सिंह और एएसपी सिटी प्रकाश स्वरूप पांडेय में कहासुनी भी हो गई। शहर कोतवाल ने उनके बाइक कि चाभी निकालकर उनका परिचय पत्र भी फेंक दिया।
  
एसपी के पकड़ लिए पैर
अनिल सिंह पुलिस पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाते हुए वहीं धरने पर बैठ गए। सूचना पर भाजपा नेताओं का जमावड़ा भी वहां लग गया। सूचना पर पहुंचे एसपी अवधेश पांडेय मौके पर ही वहाँ पहुंचे। एसपी के पहुंचने पर उनके पैरों में गिरकर रोने लगे। एसपी के समझाने पर अनिल सिंह धरने से उठे।  

एएसपी बोले- कोई भी दुवर्यव्हार नहीं हुआ है
अनिल सिंह ने आरोप लगाया कि पुलिस के रोकने पर हेलमेट न होने पर 500 का चालान कटवाया। इस पर एएसपी सिटी ने सत्ता में होने के कारण नियम कानून पालन करने आदि की बात कहने लगे और खुद बिना वर्दी में वाहन चेकिंग अभियान भी चला रहे थे। 

बिना वर्दी में वाहन चेकिंग करने की बात कहने पर दुर्व्यवहार भी किया। इस संबंध एएसपी सिटी प्रकाश ने बताया है कि हादसों को रोकने के लिए वहां वाहन चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। भाजपा नेता अनिल सिंह के साथ कोई दुर्व्यवहार नहीं किया गया। हेलमेट न होने पर चालान किया गया।