लोगों के तानों से परेशान लड़के ने किया खुदकुशी, मरने से पहले फेसबुक पर लिखा ये अंतिम शब्द

अविंशु पटेल उर्फ अवि ने 2 जुलाई को फेसबुक पर दो पोस्ट लिखा। इसमें एक अंग्रेजी में और दूसरी हिंदी में था। आपको बता दें की ये दोनों ही पोस्ट एक सुसाइड नोट थे। जिसमें उसने बताया था कि जिस तरह वह चलता है और बातचीत करता है लोग उसको परेशान करते हैं और ताने मारते हैं। युवक ने पोस्ट में लिखा कि, मैं समलैंगिक हूं। हर कोई जानता है कि मैं एक लड़का हूं, लेकिन जिस तरह से मैं चलता हूं, सोचता हूं, महसूस करता हूं, बात करता हूं ... यह एक लड़की की तरह है। भारत में रहने वाले लोग इसे पसंद नहीं करते।
loading...
इस पोस्ट की अगली सुबह ही, 20 वर्षीय युवक का शव पुलिस ने नीलकंरई समुद्र तट पर पाया था। अवि के शव को उसके माता-पिता के पास मुंबई भेज दिया गया। मुंबई में रहने वाले अवि के एक दोस्त ने बताया कि 2 जुलाई को शाम 5 बजे के आसपास उसने मुझे फोन किया था। हमारे बीच करीब एक महीने से बात नहीं हुई थी, क्योंकि हमारे बीच झगड़ा हुआ था, लेकिन उसने अचानक मुझे फोन किया। वह बहुत तरीके से बात कर रहा था, और उसने मुझे बताया कि वह सुसाइड करने जा रहा है। मैंने उससे बात करने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं माना। तब मैंने चेन्नई में अपने सहयोगियों और दोस्तों से बात कर उसको ट्रैक करने के लिए कहा।

इसके बाद जिस सैलून में अवि ट्रेनी था वहां से साथियों ने उसको ट्रेक करने की कोशिश की लेकिन व असफल रहे। उसका फोन 10 बजे से बंद जा रहा था। अगली सुबह उसके मैनेजर ने उसे फिर से कॉल की तो उसका फोन पुलिस अधिकारी ने उठाया। और इस घटना की जानकारी दी। कंपनी के सीओओ संदीप सिंह कहते हैं, '' वह अपने बैच का सबसे प्रतिभाशाली ट्रेनी था। अवि ने अपनी फेसबुक की हिंदी पोस्ट में लिखा कि, आप सबसे विनती है कि, मेरे मरने का आरोप किसी भी व्यक्ति और मुझसे जुड़ी किसी कंपनी और शहर को दोषी ना ठहराए।
अवि ने पोस्ट में लिखा कि, मैं आपकी नजर में वो आदमी हूं जिसे आप हि#$%$ और बाईल्य नाम से पुकारते हैं। सब जानते हैं कि, बस मेरा चलना.. सोचना... भावनाएं और बोलने का तरीका एक लड़की जैसा ही है। बस यही बात भारत में रहने वाले लोग भी पसंद करते हैं। इसलिए मैं खुद की इच्छा से खुदकुशी करने जा रहा हूं।

अवि ने अपनी पोस्ट में कुछ लड़के के नाम भी शामिल किए हैं। जिन्हें वह बहुत पंसद करता था। वहीं उसने आपने आसपास के लोगों से नफरत करने का भी आरोप लगाया है। वहीं युवक ने अपनी बहन और दोस्त और ऑफिस के साथियों का धन्यवाद किया। जिन्होंने उसे सपोर्ट किया। उसने अपनी बहन के घर वालों पर आरोप लगाया। इसके अलावा अवि ने अपने दोस्तों से परिवार वालों को उसे माता-पिता की सहायता करने के लिए कहा।