बेटी पैदा हुई तो पति हो गया क्रोधित, पत्नी की कर दी बेरहमी से पिटाई

देश में बेटा-बेटियों में समानता के अधिकार की तमाम बातें कही जाती हों, किन्तु आज भी लड़का-लड़कियों में भेदभाव के मामले सामने आते रहते हैं। कुठित मानसिकता का ऐसा ही एक मामला सीपत थाना क्षेत्र में सामने आया है। जहां एक पत्नी ने तीसरी बार भी लड़की को जन्म दिया तो पति ने पत्नी की बेरहमी से पिटाई कर दी। 
loading...
मामला खुला तो पता चला कि पति पिछले 10 वर्षो से पत्नी को बेटे के नाम पर प्रताड़ित करता आ रहा है। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक़ सीपत थाना के उज्जवला नगर निवासी स्नेहा श्रीवास्तव ने पुलिस को बताया कि उसका पति पंकज अंबस्थ पिछले 10 वर्षो से उसे इस बात के लिए प्रताडि़त करता आ रहा है कि उसकी दो बेटियां हैं, बेटा नहीं है। 
पहले से दो बेटियों के बाद जब बीते दिनों उसके यहां एक और संतान बेटी के रुप में हुई तो पंकज आग बबूला हो गया। एक के बाद एक तीन बेटियां हो जाने पर मंगलवार को पंकज ने पत्नी के साथ बेरहमी से मारपीट की। पत्नी जान बचाकर किसी तरह भागी और पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। पीडि़त महिला की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी के विरुद्ध मामला दर्ज कर लिया है।