किन्नर ने प्रेमी युवक से किया शादी, दो दिन बोलकर गया था लेकिन अब हुआ ऐसा..!

4 महीने पहले ही 14 फरवरी को हुई इंदौर शहर की पहली किन्‍नर की शादी विवादों में पड़ गई है। किन्नार ने पति की गुमशुदगी की शिकायत 23 अप्रैल को खजराना थाना पुलिस से किया। सुनवाई नहीं होने पर मंगलवार को जनसुनवाई में आवेदन दिया। वहां से इसको वन स्टॉप सेंटर को भेज दिया गया। शुक्रवार को किन्नर ने सेंटर पर अपनी व्यथा सुनाई। उसने ससुराल पक्ष पर पति को छुपाकर रखने का आरोप भी लगाया है। उसको डर है कि वे पति की दूसरी शादी न करवा दें।
loading...
शहर में पहली बार हुई किन्नर की शादी काफी ज्यादा चर्चा में भी रही थी। उल्लेखनीय है कि स्कीम नंबर 134 निवासी 33 वर्षीय जयासिंह परमार ने महू निवासी जुनैद खान से वेलेंटाइन डे पर बिजासन माता मंदिर में शादी की थी। इसके बाद 30 मार्च को रायपुर में किन्नर सामूहिक सम्मेलन में दोनों ने दोबारा विधिवत शादी किया और इंदौर में सांसारिक जीवन शुरू किया। जया के अनुसार 9 अप्रैल की रात को जुनैद महू में माता-पिता से मिलने की बात कहकर घर से निकला था। इसके बाद से अभी तक नहीं लौटा। जब इस बारे में परिवार वालों से बात किया तो उन्होंने जुनैद के घर आने की बात से इंकार कर दिया।

पति के सिवाय कोई भी नहीं, समाज ने भी बेदखल किया
जया ने बताया कि उसने खजराना पुलिस थाने में पति की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई है लेकिन वहां कुछ भी  जानकारी नहीं देते। कलेक्टर की जनसुनवाई में भी आवेदन दिया था। इसके बाद महिलाओं की मदद करने वाले वन स्टॉप सेंटर पर केस पहुंचा। वन स्टॉप सेंटर में जया फूट-फूट कर रोने लग गई। उसने कहा कि पति के सिवाय उसका कोई भी नहीं है। शादी के बाद किन्नार समाज से भी वह बेदखल हो चुकी है। ससुराल वाले बात करने को तैयार नहीं होते। कमाई का कोई भी साधन नहीं है। वह मांगकर नहीं खा सकती क्योंकि वह यह सब बहुत पहले छोड़ चुकी है। वह सामान्य शादीशुदा महिला की तरह ही जिंदगी जी रही है।

पति पर है पूरा भरोसा 
जया कहती है कि उसको अपने पति और अपने प्यार दोनों पर बहुत ही भरोसा है। पति अलग-अलग नंबर से उसको फोन लगाकर बस इतना ही कहता है कि चिंता मत करो। मैं जल्दी घर लौट आऊंगा। लेकिन डर है कि उसके घरवाले दबाव बनाकर उसकी दूसरी शादी न कर दें। जया अपने पति की तलाश में जगह-जगह घूम रही है। वह महू भी कई बार गई लेकिन उसे लौटा दिया जाता है।

ऐसे किया था दोनों ने शादी
जया और जुनैद के बीच प्यार की शुरुआत महू स्थित पातालपानी से ही हुई थी। जया ने बताया है कि वह अपने साथियों के साथ घूमने गई थी। जहां जुनैद भी आया था। दोनों में मुलाकात हुई और पहचान बढ़ी। धीरे-धीरे बातें होने लगी और पहचान प्यार में तब्दील हो गई।

जुनैद ने जया के बारे में सबकुछ जानते हुए भी प्यार का इजहार किया और शादी का प्रस्ताव भी रखा। शादी को लेकर कई तरह की अटकलें थीं लेकिन एक एनजीओ की मदद से शादी की तैयारियां की गईं। उधर जुनैद ने भी कहा था कि परिवार नहीं माना तो वह अपनी अलग गृहस्थी बसाएगा। निजी कंपनी में मार्केटिंग करने वाले जुनैद ने कहा था कि उसको कोई फर्क नहीं पड़ता कि जया सामान्य है या किन्नार।

बच्ची गोद लेने का भी सपना था
इस चर्चित जोड़े ने एक बच्ची को गोद लेने की भी बात कही थी। जया का कहना है कि वह बच्ची को पढ़ा लिखा कर नेक इंसान बनाना चाहती थी लेकिन यह नहीं सोचा था कि घर बसने की शुरुआत में ही इतनी सारी समस्या आकर खड़ी हो जाएगी।