मोमोज का ये हकीकत जानने के बाद आप भी खाना छोड़ दें, अवश्य जानें

जैसा की आप सब को पता है कि मोमोज एक चाईनीज डिश है,पर ये भारत में भी उतना ही लोकप्रिय है जितना कि चीन में। हमारे आसपास कहीं ना कहीं आपने मोमोज के ठेले अवश्य देखे होंगे,आजकल तो हर गली हर नुक्कड़ पर आपको चाऊमीन की दुकान अवश्य रहती है। पर आज कल के युवाओं में चाऊमीन और मोमोज का क्रेज जिस प्रकार चढ़ा है वो बहुत चिंताजनक है क्योंकि हम अपने स्वाद और मज़े के लिए मोमोज तो खाते हैं पर शायद हमें ये नहीं पता कि इसे खाना कितना हानिकारक होता है। 
loading...
मैदे से बने जिस मोमोज को आप रोज खाते हैं वह आपके लिए कितना खतरनाक हो सकता है शायद ये बात आप नही जानते हैं। मोमोज या मैदे से बने खाद्य पदार्थ के कई साइड इफेक्‍ट भी हैं क्‍योंकि मैदा परिष्‍कृत गेंहू का आटा होता है, इसमें फाइबर नही होता है। मैदे को सफेद और चमकदार बनाने के लिए बेंजोइल परऑक्साइड से ब्‍लीच किया जाता है, जो कि बहुत हानिकारक होता है। इसे खाने के और भी दुष्‍प्रभाव हैं।

मैदे के सेवन से होने वाली समस्‍या
1. मैदा खाने से बॉडी में शुगर लेवल बढ़ जाता है। क्‍योंकि इसमें हाई ग्‍लाइसेमिक इंडेक्‍स होता है। 

2. ब्‍लड शुगर बढ़ने से खून में ग्‍लूकोज जमने लगता है, इससे बॉडी में केमिकल रिएक्‍शन होता है, जिससे गठिया और ह्रदय संबंधी बीमारियां होने लगती है। 

3. मैदे से बने मोमोज में फाइबर नही होता है, इसके अत्‍यधिक सेवन से पेट में कब्‍ज की समस्‍या होने लगती है। इससे सिर में दर्द और मिचली जैसी भी समस्या हो सकती है।
4. जो लोग नियमित रूप से मैदे से बने मोमोज या अन्‍य खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने लगती है। 

5. जब मैदा बनाया जाता है तो इसमें से प्रोटीन निकल जाता है और यह एसिडिक बन जाता है। जोकि हड्डियों से कैल्शियम को अवशोषित कर लेता है, जो हड्डी को कमजोर कर देते हैं।