घर के बाहर दोस्त और घर जाते ही बन जाते थे नाबालिग पति-पत्नी, फिर हुआ कुछ ऐसा..!

सफर के दौरान नाबालिग बस कंडक्टर और लड़की में जान पहचान हुई। इसके मित्रता फिर आपस में प्रेम हो गया। जब प्रेम परवान चढ़ा तो नाबालिग कंडक्टर नाबालिग लड़की को अपने साथ भगा ले गया। मंदिर में विवाह भी कर ली। लेकिन जब परिवार वालों को इसकी खबर मिली तो पुलिस में शिकायत की। पुलिस ने नाबालिग प्रेमी को गिरफ्तार करके बाल सुधार गृह भेज दिया है।

मामला गुंडरदेही थाना क्षेत्र के एक गांव का
यह मामला गुंडरदेही थाने क्षेत्र के एक गांव का है। जहां दो वर्ष पहले बस कंडक्टर के साथ जान पहचान हुई थी। जान-पहचान मित्रता में बदली फिर दोनों के बीच प्यार हो गया। बीते 18 अप्रैल को नाबालिग कंडक्टर लड़की को भाग ले गया। परिवार वालों ने लड़की की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई।

पुणे में कुली का काम कर रहा था अपचारी

बता दें कि 18 अप्रैल को नाबालिग कंडक्टर नाबालिक लड़की को अपने साथ नागपुर ले गया और वहीं मंदिर में लड़की के मांग में सिंदूर भरकर विवाह कर ली। यहां से पुणे चला गया और वहां निर्माणाधीन बिल्डिंग में मजदूरी का काम करने लगा।

थाने से भेज दिया सुधार गृह 
30 अप्रैल को प्रेमी जोड़ा गांव आ गया और लड़की को अपने घर ही रखा। पुलिस को जैसे ही वापस आने की जानकारी मिली गांव पहुंचकर लड़के को गिरफ्तार करके थाने ले आई। पूछताछ के बाद उसे बाल सुधार गृह भेज दिया है।