दहेज में मोटरसाइकिल नहीं मिली तो शादी के अगले ही दिन पत्नी को तीन तलाक दे दिया, जानिए पूरा मामला

उत्तर प्रदेश में बाराबंकी जिला है. यहां फतेहपुर कोतवाली क्षेत्र में रहने वाली रुखसाना बानो का निकाह 13 जुलाई को शाहे आलम के साथ हुआ था. निकाह के बाद रुखसाना अपनी ससुराल पहुंची. सुबह पति ने उसे तलाक दे दिया, क्योंकि वह दहेज में मोटरसाइकिल लेकर नहीं गई थी. रुखसाना के घरवालों ने शाहे आलम के खिलाफ FIR दर्ज कर दी है.
loading...
इंडिया टुडे के रिपोर्टर रेहान मुस्तफा ने रुखसाना के पिता कुतुबुद्दीन से बात की. उन्होंने कहा कि उन्होंने अपनी बेटी का निकाह शाहे आलम के साथ किया था. निकाह में अपनी क्षमता के हिसाब से सारा सामान दिया. रात को निकाह और विदाई हुई. अगली सुबह रुखसाना के ससुराल से फोन आया कि उसकी तबीयत खराब है.

रुकसाना की शादी में दिया गया सामान.
वह तुरंत उसके ससुराल रवाना हुए. वहां रुखसाना ने बताया कि दहेज में मोटरसाइकिल नहीं मिली. इसी कारण से उसके साथ ससुराल में मारपीट की गई. रुखसाना के पिता ने समझाने की प्रयास की तो शाहे आलम और उसके परिवार ने झगड़ा शुरू कर दिया. झगड़ा ज्यादा बढ़ गया और फिर शाहे आलम ने रुखसाना को तीन तलाक दे दिया.

आरोपी शाहे आलम
आरोपी शाहे आलम ने पुलिस से कहा कि रुखसाना उसके साथ नहीं रहना चाहती है. इसलिए उसने उसे तलाक दिया.रुखसाना के परिवार ने पुलिस में शाहे आलम के विरुद्ध शिकायत कर दी है. पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने बताया कि आरोपियों के विरुद्ध दहेज उत्पीड़न का मामला भी दर्ज कर लिया गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है.