अरबों में खेलने वाले इस व्यक्ति ने एक लड़की के चक्कर में बर्बाद कर लिया अपना जीवन

दक्षिण भारतीय के सरवना चेन ऑफ रेस्टोरेंट्स को सभी अच्छे से जानते है। इसके मालिक पी राजगोपाल की प्यार की कथा एवं बर्बादी चर्चा का विषय बनी है। दरअसल, मौत के एक मामले में उन्हें चेन्नई के सेशन कोर्ट ने उम्र कैद की सजा सुनाई है।

अपने ही कर्मचारी की पुत्री पर पागल था राजगोपाल 
उद्योगपति राजगोपाल अपने चेन्नई में उपस्थित आउटलेट के असिस्टेंट मैनेजर की पुत्री जीवा ज्योति पर फिदा था। हालांकि लड़की किसी भी हालत में राजगोपाल से शादी नहीं करना चाहती थी। इससे पहले राजगोपाल को उनके ज्योतिषियों ने राय दी कि यदि जीवा से उनकी शादी हो गई तो उनके कारोबार में और वृद्धि होगी।

राजगोपाल ने रची हत्या की साजिश
जब लड़की ने राजगोपाल की लालसा पूरी नहीं करते हुए अपने प्रेमी संतकुमार से शादी कर लिया तो राजगोपाल को ये बिल्कुल भी सहन नहीं हुआ एवं उन्होंने अपने गुर्गों से लड़की के पति को मौत के घाट उतरवा दिया। जब इस हत्याकांड का खुलासा हुआ तो इसमें राजगोपाल के सम्मिलित होने पर सभी निस्तेज रह गए।

राजगोपाल का दिलचस्प व्यावसायिक इतिहास
कहा जाता है कि राजगोपाल के पिता तमिलनाडु के तूतीकोरीन में प्याज की खेती करते थे। पिता ने खेती से ऊपर उठकर कारोबार करने का मन बना लिया। लिहाजा उन्होंने चेन्नई में एक सब्जी की दुकान खोल ली। इसी बीच कुछ दोस्तों की सलाह पर उन्होंने एक खाने पीने की दुकान खोली। एक ज्योतिष ने दुकान में बड़ा निवेश कर इसे रेस्टोरेंट तैयार करने की सलाह दी।
राजगोपाल के पिता ने साल 1981 में चेन्नई में अपना पहला रेस्तरां खोला। क्वालिटी पर विशेष तवज्जो एवं ग्राहकों के खास ख्याल रखने की रणनीति ने शीघ्र ही रेस्तरां को फेमस बना दिया। राजगोपाल भी अपने पिता के कारोबार में हाथ बंटाने लगे। 
कहा जाता है कि राजगोपाल ने पिता के खोले कारोबार को फैला दिया एवं इसे दूसरे देशों में भी फैलाया। जल्दी ही रेस्तरां का टर्नओवर अरबों में हो गया। इसे नसीब का खेल ही कहें कि अरबों में खेलने वाले राजगोपाल ने एक लड़की हेतु अपनी जिंदगी बर्बाद कर ली। अब व्यक्ति  को ताउम्र जेल में ही सजा काटनी पड़ेगी।