मामी के प्यार में पागल हो गया था भांजा, पकड़ा गया तो कर दिया कर दिया कुछ ऐसा..!

रिश्तों को तार-तार कर देने वाली एक घटना तब सामने आई है। जब पुलिस ने एक मर्डर मिस्ट्री पर से पर्दा हटाया तो युवक की हत्या करने में न केवल उसका सगे भांजे और उसके मित्रों का नाम सामने आए। बल्कि मृतक की भाभी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। मामी-भांजा के संबंधों के बारे में छोटे मामा को पता चलने पर रास्ते से हटाने के लिए हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया। यह घटना उत्तर प्रदेश के वाराणसी की है।
दरअसल, 10 जून को वाराणसी के लोहता थाना में एक व्यक्ति का शव मिला जिसकी पहचान बच्छवा गांव के रहने वाले रतन कुमार के रूप में की गई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में रतन कुमार की हत्या होने की बात सामने आई थी। जिसके बाद पुलिस ने जांच प्रारम्भ कर दी है। पुलिस की अनुसार, अभियुक्तों ने घटना के पीछे मामी और भांजे के बेपनाह प्यार की कारण बताई। बताया गया है कि कलयुगी भांजे राहुल का सम्बन्ध उसके मामी से है। 
मामी के साथ राहुल के द्वारा गलत हरकत करते वक्त राहुल के छोटे मामा रतन ने देख लिया था। जिस कारण दोनों मे विवाद हुआ और उस वक्त राहुल ने गलती मान ली.उसके बाद राहुल ने अपने मामा के यहां जाना कम कर दिया। इसके बाद भी प्यार में अंधे मामी - भांजे के बीच बात फोन पर होती रही। दोनों ने मिलकर मामा रतन को रास्ते से हटाने के लिये योजना बनाई।
योजना के तहत राहुल ने अपने मित्र सोनू और जयेंद्र से सम्पर्क किया और 9 जून को राहुल के गांव मे एक मित्र की विवाह में मामा रतन को बुलाया। भांजे का मित्र सोनू ड्राइवर था और वह जिस मैजिक को चलाता था। उसे विवाह में भाड़े पर तय करके ले गया था। उसी गाड़ी में मामा - भांजे के साथ मित्र भी बैठकर अनन्तपुर गांव बारात में गए।
मामा रतन को गाड़ी में बैठकर देर रात सरहरी गांव ले गये और सरहरी गांव की पुलिया के पास सुनसान जगह पाकर पहले तो सभी ने रतन की पिटाई की, फिर रतन को ईंट-पत्थर से मारा। उसके बाद रतन नहीं मरा नहीं, तब सभी ने रतन पर मैजिक चढ़ा दी। उसके बाद सभी रतन को सड़क के किनारे छोड़कर बारात मे फिर शामिल हो गये। जब कुछ बारातियों में रतन के बारे मे पूछा तो आरोपियों ने टाल-मटोल कर दिया। मंगलवार को जब सभी शहर छोड़कर भागने की फिराक में थे तो पुलिस ने सभी को पकड़ लिया।