बड़े बेटे-बहू की प्रताड़ना से तंग आकर शिक्षक ने दे दिया जान, जानिए क्या था कारण

सकरा के रामीरामपुर गांव के निजी शिक्षक वीरेन्द्र कुमार बचपन से ही काफी ज्यादा शांत प्रवृति के थे। बचपन में मां की मौत हो गई। चाची ने उनको पाला। इनके दो पुत्र मधुसूदन आनंद और मधुरेन्द्र कौशल हैं। बड़े बेटे व बहू की प्रताड़ना से तंग आकर उन्होंने अब खुदकुशी कर ली। उनके जेब से मिले सुसाइड नोट में भी इस बात का जिक्र है।
loading...
ग्रामीणों ने बताया कि वीरेन्द्र का मधुसूदन से लंबे समय से विवाद चल रहा था। स्टाम्प पेपर पर दोनों पुत्रों के बीच घर व खेत की जमीन का बंटवारा सात साल पहले कर दिया था। छोटे पुत्र की शादी के बाद विवाद बढ़ गया था। इससे आहत होकर वीरेंद्र अलग मकान बनाकर पत्नी के साथ ही रहने लगे थे। विवाद थमा नहीं। परिजन से अक्सर मारपीट होती थी। बड़ा पुत्र घर के दरवाजे की पूरी जमीन लेना चाहता था। ग्रामीणों ने बताया कि दो धुर जमीन वीरेन्द्र कुमार की मौत का कारण बन गया।

दवा लाने की बात कहकर निकले थे घर से 

सकरा चांदनी चौक के निकट ही एक मकान में वीरेंद्र कोचिंग चलाते थे। निजी स्कूल में शिक्षक की नौकरी करने पर 6500 रुपये मासिक मिलते थे। इससे दंपती की रोजी-रोटी चलती थी। बंटाइदारों से अनाज व राशि भी मिलती थी। मृतक की पत्नी वैदेही देवी ने बताया कि गुरुवार से बुखार से पीड़ित थे। शुक्रवार की सुबह सकरा से दवा लाने की बात कहकर घर से निकले थे। इसके बाद नहीं लौटे। बड़े पुत्र व बहू की प्रताड़ना और विवाद से काफी त्रस्त थे।

बड़ा बेटा और बहू घर छोड़कर भाग गए
मुखिया सतीश कुमार ने बताया है कि वीरेंद्र के दो पुत्रों के बीच घर की जमीन के बंटवारे को लेकर उत्पन्न विवाद को सुलझाने गये थे। घर की जमीन समेत छोटे पुत्र ने रखने की रजामंदी भी कर दी थी। लेकिन बाद में साढे छह लाख रुपये की व्यवस्था नहीं होने पर छोटे पुत्र ने बड़े भाई के हिस्से के रुपये देने से असमर्थता जतायी थी। इसके बाद वीरेंद्र काफी तनाव में रह रहे थे। मौत की खबर के बाद पूरे गांव में शोक का माहौल भी है। वहीं बड़ा बेटा और बहू घर छोड़कर भाग गए हैं। सकरा पुलिस पूरे मामले की तफ्तीश कर रही है।

नोट के आधार पर जांच शुरू किया गया

नोट के आधार पर ही पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। टाउन डीएसपी मुकुल कुमार रंजन ने बताया कि घरेलू विवाद के कारण आत्महत्या की बात सामने आयी है। जांच की जा रही है। पोस्टमार्टम नहीं होने के कारण शव पोस्टमार्टम हाउस में रखा है। इधर, घटना की जानकारी मिलने पर उसका बड़ा बेटा और बहू घर बंद कर फरार हो गए हैं।