प्रेमी से फोन पर बात करने पर लड़की को परिवार वालों ने दी सजा, हथौड़े से कूचे पैर, चोटी काटी..!

एक किशोरी को फोन पर प्रेमी से बात करना महंगा पड़ गया। तड़के चार बजे छोटे भाई व पिता ने उसे फोन पर बात करते हुए सुना तो जल्लाद बन बैठे। पहले किशोरी को बाल पकड़कर घसीटते हुए कमरे से बाहर लेकर आए। फिर उसकी चोटी काट दी। इतनी क्रूरता के बाद भी परिवार वालों का मन नहीं भरा तो हथौड़े से उसके दोनों पैरों को कूच डाला। परिवार वालों ने उसे करीब सुबह नौ बजे तक पीटते रहे।
परिवार वालों ने उसकी जान के दुश्मन बन बैठे तो किशोरी किसी तरह उनके चंगुल से छूटकर घर से भाग निकली। मुहल्ले के कुछ लोगों से सहायता की गुहार लगाई। आसपास रहने वाले कुछ लड़कों ने घटना की सूचना नारी शक्ति सेवा समिति संस्था को दी। तब संस्था से जुड़ी औरते मौके पर पहुंची और किशोरी को लेकर इज्जतनगर थाने पहुंची। किशोरी के भाई व पिता के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया और उसे मेडिकल के लिए जिला अस्पताल लेकर पहुंची। यह घटना शहर में चर्चा का विषय बनी हुई है।  
इज्जतनगर थाना क्षेत्र के एक मुहल्ले में रहने वाले 17 वर्षीय किशोरी के प्रेम संबंध पास में ही रहने वाले युवक से हैं। किशोरी तड़के चार बजे कमरे में लेटे हुए अपने प्रेमी से फोन पर बात कर रही है इसी दौरान छोटे भाई और पिता ने उसे बात करते सुन लिया। इस पर दाेनों का पारा चढ़ गया। वह किशोरी को बाल पकड़कर खींचते हुए कमरे से बाहर ले आए। फिर प्रेमी का नाम पूछते हुए पिटाई करना शुरू कर दी। आरोप है कि इस दौरान दोनों ने मिलकर उसकी चोटी काट दी और हथौड़े से पैर कूच दिए। परिवार वालों ने उसे सुबह करीब नौ बजे तक पीटते रहे। 
परिवार वालों से खतरा महसूस होने पर किशोरी किसी तरह छूटकर घर से भाग निकली और मुहल्ले के कुछ लड़कों से सहायता मांगी। नारी शक्ति सेवा समिति संस्था की यासमीन को मुहल्ले के लड़कों ने पूरी घटना की जानकारी दी तो वह तुरंत मौके पर पहुंच गई। इसके बाद यासमीन नाबालिग को इज्जतनगर थाने ले गई और परिवार वालों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस ने किशोरी को मेडिकल के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है। फिलहाल, आरोपित की खोज की जा रही है। साथ ही जांच शुरू कर दी गई है।