अपने बच्ची का उपचार कराने को नहीं थे पैसे, मां ने कर दिया हैरान करने वाला काम..!

मध्य प्रदेश के खंडवा में एक बेहद दर्दनाक मामला सामने आया है। आरोप है क‍ि एक मां ने मजबूर होकर अपनी ही 7 महीने की बच्ची को मार डाला है। आरोपी मां ने अपने जिगर के टुकड़े को क्यों मारा, इसके पीछे घरेलू कलह वजह बताई जा रही है। दरअसल 7 माह की बच्ची पिछले कई दिनों से बीमार थी और बच्ची के उपचार कराने के लिए उसके पास पैसे नही थे। 
लिहाजा परेशान होकर औरत ने बच्ची को मार डाला। परन्तु पोस्टमॉर्टम र‍िपोर्ट आने के बाद ये तय होगा क‍ि बच्ची को जान-बूझकर मारा है या गलती से वह मारी गई है। मीड‍िया रिपोर्टों के अनुसार, जिले के अहमदपुर खैगांव में रहने वाली औरत का नाम माया डांगोरे है। मजदूरी करके जीवन-बसर करने वाले इस परिवार के घर में 6 वर्ष पहले एक लड़की हुई थी। किसी तरह परिवार का भरण-पोषण चल रहा था।  इस दौरान 7 महीने पहले माया को दूसरी बेटी हुई थी।
आरोपी अउरी ने दोपहर से शाम तक बच्ची के शव को अपने गोद में रखे रखा। बाद में घर से बदबू उठने पर गांव वालों ने औरत के रिश्तेदार को और पुलिस को इसकी सूचना दी। बाद में पुलिस गांव पहुंची तो वहां से बच्ची को लेकर अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
दरअसल, माया को जब दूसरी बेटी पैदा हुई थी तभी से पति-पत्नी के बीच लगातार झगड़े होते थे. पति अक्सर माया के साथ मारपीट करता रहता था. करीब 15 दिन पहले भी पति ने महिला के साथ मारपीट की. उसने माया और अपनी बड़ी बेटी की पिटाई की थी और घर छोड़कर चला गया था. बाद में सास भी घर छोड़कर चली गई. इसके बाद माया पर अपनी दोनों बेटियों की देख-रेख के साथ परिवार चलाने की मजबूरी आ गई थी.
इधर, 7 माह की दूधमुंही बच्ची की बीमारी ने माया को तोड़ कर रख दिया था. आर्थिक तंगी और मजदूरी नहीं मिलने से वो काफी परेशान थी. गुरुवार को बच्ची बीमारी की वजह से तेज-तेज रो रही थी. तब माया ने उसे मारना शुरू कर द‍िया. घंटों बाद पता चला क‍ि उसकी बेटी मर चुकी है.