शादी के 3 दिन बाद ही ससुराल में इस हाल में मिली नवविवाहिता, गर्दन पर बना हुआ था चाँद का निशान

विवाह के लिए व्यक्ति बहुत सारे सपने सजाते हैं खासकर महिलाएं. वो अपने घर को छोड़कर दूसरे के घर जाती हैं इस उम्मीद से कि वहां उन्हें प्रेम और सम्मान मिलेगा, वो पति जिसके लिए उसने अपना सरनेम भी छोड़ दिया उसके प्यार के सहारे वो अपना सारा गम भूल जाएगी और जो उसके दाम्पत्य जीवन में सुख प्राप्त होगो तो वो उसमें ही व्यस्त हो जाएगी. मगर कुछ लड़कियों की भाग्य ऐसी होती है कि उसका सपना तो टूटता ही है और उसकी अपने पति से की हुई भरोसा भी तार-तार हो जाती है. 
loading...
कुछ ऐसा ही हुआ राजस्थान में रहने वाली 24 वर्ष की नवविवाहिता प्रज्ञा की विवाह 19 नवंबर को राजकुमार सैनी के साथ हुई थी लेकिन शादी के 3 दिन बाद ही ससुराल में इस हाल में मिली नवविवाहिता, मृतका के परिजनों ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है जिसके बात मृतका का पोस्टमार्टम होने की बात की जा रही है. युवती के पिता ने तार से गला घोटने की कारण  से मौत की आशंका जाहिक की है.

शादी के 3 दिन बाद ही ससुराल में इस हाल में मिली नवविवाहिता
राजस्थान के चुरू में रहने वाले परमेश्वर लाल ने अपनी बेटी प्रज्ञा की शादी 19 नवंबर को की, फिर 20 नवंबर को सुबह साढ़े आठ बजे वो मायके आई जहां वो एक घंटा रुकी और ससुराल चली गई. फिर गुरुवार दोपहर करीब साढ़े ग्यारह बजे उन्हें खबर दी हई उनकी देहांत हो गई. जब वो अस्पताल पहुंची तो उनकी बेटी की लाश ससुराल के बाथरुम में पड़ी हुई थी. प्रज्ञा के ससुर जय भगवान सैनी ने बतचाया कि सुबह 9 बजे जब प्रज्ञा नहाने गई और कुछ देर तक बाहर नहीं आई तो बाथरूप का दरवाजा बाहर से खटखटाया गया. जब भीतर से कोई हरकत नहीं हुई तो दरवाजा को तोड़ा गया और जब वो लोग भीतर गए तब नवविवाहिता बेसुध पड़ी हुई थी.
उसका चेहरा बाल्टी पर पड़ा हुआ था. जैसे ही प्रज्ञा के ससुराल वाले उसे डॉक्टरों के पास लेकर गए तो उसे मृत ऐलान कर दिया गया. अब प्रज्ञा और राजकुमार की शादी को तीन दिन ही तो हुए थे तो वो आत्महत्या क्यों करेगी मगर मृतका के पिता ने इसे आत्महत्या का नहीं बल्कि हत्या का आरोप लगाया है. इसके लिए पुलिस अपने एंगल से जांच कर रही ह पुलिस ने प्रज्ञा के लाश का पोस्टमार्टम भी कराया है जिसकी रिपोर्ट आने पर आगे की कार्यवाही की जाएगी.

पति-पत्नी दोनों बैंक में करते हैं काम
परमेश्वर लाल ने पुलिस से शिकायत की है कि विवाह के वक्त  कुछ समस्याएं आई थीं और दहेज में भी कुछ चीजें कम दी गईं. ये कारण हो सकती है कि उनकी बेटी की हत्या कर दी गई है, उन्होंने अनपी बेटी के गले में चांद के आकार का निशान नजर आए, उन्हें ऐसा लग रहा था कि किसी ने बेरहमी से उसका गला तार या किसी दूसरी चीज से घोंटा है. 
आपको बता दें कि मृतका प्रज्ञा बैंक में कार्यरत थी वो झुंझनू जिले के नवलगढ़ में स्थित बीआरजीबी बैंक में पीओ के पद कर काम करती थी और उसके पति राजकुमार सैनी गुजरात में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में कार्य करते हैं. थाना अध्यक्ष महेंद्र दत्त शर्मा ने बताया कि परमेश्वर लाल ने प्रज्ञा के ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगाया है और दहेज के लिए उनकी बेटी को प्रताडि़त किया गया है. अब सच क्या है ये सब पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर ही मालूम पड़ेगा.