30 फीट ऊंची टंकी से नीचे फेंक दिया नहीं मरा तो 8 वर्ष के भांजे की गला घोंटकर हत्या..!

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां एक मामा ने अपने 8 वर्ष के भांजे की हत्या कर दी। घटना का खुलासा करते हुए पुलिस ने बताया कि मासूम को टंकी से नीचे फेंकने के बाद उसने नीचे आकर उसका गला भी घोंटा था। इस दौरान वह लहूलुहान हालत में तड़पता रहा। लेकिन इसके बाद भी उसे उस पर रहम नहीं आया। पुलिस ने बताया कि आरोपित का बच्चे के पिता से पैसे के लेनदेन का विवाद चल रहा था और उसका खामियाजा बच्चे को अपनी जांन देकर चुकाना पड़ा है।

काम की तलाश में आया था जियाउल
loading...
बिहार के सहरसा जिले के मैसी थाना क्षेत्र स्थित भिलाई गांव निवासी मो. जियाउल कुछ साल पहले अपने रिश्तेदारों के पास प्रयागराज काम की तलाश में आया था। यहां वह अपने रिश्तेदार की सहायता से मुंडेरा मंडी में पल्लेदारी करने लगा। मुंडेरा मंडी राज्यस्तरीय सब्जी व खाद्य मंडी है और काम की कमी न होने के कारण वह कमाई भी अच्छी करने लगा। जियाउल ने यहीं कमरा ले लिया और फिर अपने बेटे दिलकश को अच्छी शिक्षा दिलाने के लिये उसे प्रयागराज बुला लिया। अभी चंद रोज पहले ही दिलकाश बिहार से प्रयागराज आया था ओर पिता के साथ रहने लगा था।

रविवार को हुआ था लापता
दिलकश अपने पिता के साथ आखिरीबार रविवार की शाम मुंडेरा मंडी गया हुआ था। और वहीं से अचानक लापता हो गया था। पिता समेत साथियों ने खोज प्रारम्भ की। लेकिन दिलकश का कोई पता नहीं चला। देर रात मामले में पुलिस से मदद मांगी गयी तो सोमवार को बच्चे की खोज प्रारम्भ हुई। दोपहर बाद मछली मंडी की तरफ बने खंडहर नुमा मकान के पास दिलकश की लाश कुछ लोगों ने देखी तो हड़कंप मच गया। लोगों की भीड़ जुटी और हंगामा प्रारम्भ हुआ तो पिता ने दिलकश के मामा अशफाक पर हत्या का आरोप लगाया।

पुलिस पूछताछ में बताया कि

पुलिस के मुताबिक, पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह मासूम को 30 फीट उंची टंकी पर सीढ़ियों के सहारे यह कहकर ले गया कि ऊंचाई से पूरा मोहल्ला दिखाई देगा। जैसे ही वह ऊपर पहुंचा। आरोपी ने उसे धकेल दिया जिससे वह चीखते हुए नीचे जा गिरा। सिर के बल गिरने पर उसे गहरी चोट लगी और वह लहूलुहान होकर तड़पने लगा। इससे भी जी नहीं भरा तो आरोपी ने नीचे आकर उसका गला भी घोंट दिया।

गिरफ्तार हुआ आरोपी

एसपी क्राइम आशुतोष मिश्र ने बताया कि बच्चे की हत्या के आरेपी अशफाक घटना के बाद बिहार भागने के लिये बस स्टेंड पहुंच चुका था। लेकिन सटीक सूचना पर उसे पकड़ लिया गया। पूछताछ में उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। एसपी ने बताया कि अशफाक ने जियाउल से 20 हजार रुपये उधार लिए थे और इसी पैसे को नहीं लौटाने पर दोनों के बीच विवाद बढ़ गया था। पिछले सप्ताह जियाउल ने थाने में रिपोर्ट लिखाकर जेल भेजने की धमकी दी थी। सबके बीच बेईज्जत होने के बाद उसने हत्या का प्लान बनाया था।