क्रेन खरीदी और क्रेन से ही 200 कारें चुरा लिया, और फिर बस एक भूल से पकड़ लिए गए

सोनी टीवी पर एक क्राइम सीरियल आता है. नाम है क्राइम पेट्रोल. इस सीरियल में रीयल लाइफ की क्राइम की खबरों को रील लाइफ, यानी कि टीवी पर दिखाया जाता है. ये सीरियल इतना फेसम है कि आम लोग तो देखते ही हैं, चोर भी देखते हैं. और तो और इस सीरियल से आइडिया भी लेते हैं. वैसे इस मामले में सीरियल की कोई गलती नहीं है, वो कहते हैं न कि जो शख्स जैसा होता है, वो वैसी ही चीज़ों के प्रति आकर्षित होता है. इस केस में कुछ ऐसा ही है.
loading...
दिल्ली में चोरों का एक गैंग पकड़ाया है. जो इसी सीरियल से आइडिया लेकर गाड़ी चोरी किया करता था. सीरियल से बाकायदा उन्होंने आइडिया लेकर क्रेन खरीदी थी और क्रेन के ज़रिए लोगों को कारों की चपत लगाते थे. अब ये पूरा खुलासा कैसे हुआ ये भी समझ लीजिए.

तो हुआ कुछ यूं कि 10 जून की शाम दिल्ली के देशबंधु गुप्ता रोड किनारे खड़ी एक कार को कुछ लोग टो करके ले जा रहे थे. हालांकि कार का हैंड ब्रेक लगा था इसीलिए वो गाड़ी को ठीक से क्रेन के ऊपर नहीं चढ़ा पाए. क्रेन पर गाड़ी सही से नहीं फिट होने के वजह से गाड़ी रगड़ते हुए सड़क से जा रही थी. ये माज़रा देखकर पुलिस को शक हुआ. जिसके बाद पुलिस ने क्रेन को रुकवाकर पूछताछ की. पूछताछ के बाद पूरा मामला क्रिस्टल साफ हो गया. पुलिस ने फिर तीन चोरों को गिरफ्तार कर लिया.
तीनों चोरों को गिरफ्तार करने के बाद जब उनसे पूछताछ हुई तो जो-जो बातें उन्होंने बताई वो सुनकर पुलिस वाले भी सिर खुजाने लगे. तीन चोरों में से एक ने कहा  कि वो लगातार क्राइम पेट्रोल देखा करता था. उसी सीरियल से उसे कार चोरी के लिए क्रेन खरीदने का विचार आया. इसके पीछे उसका तर्क ये था कि लोगों को ऐसा भी नहीं लगेगा कि कार चोरी हो रही है, और आसानी से हम कार को उठा भी लेंगे. चोरों ने कहा कि उन लोगों ने ऐसा करके तकरीबन 200 गाड़ियों की चोरी की है.

बाद में पुलिस ने इस बात की जानकारी दी कि कुछ दिनों से उन्हें शिकायत मिल रही थी कि क्रेन के ज़रिए कुछ लोग गाड़ियों की चोरी कर रहे हैं. जबकि पुलिस को पहले यकीन नहीं हुआ किन्तु सतर्क होकर चोरों को पकड़ने के बाद, और फिर उनके मुंह से सारी कहानी सुनने के बाद पुलिस को इस थ्योरी पर यकीन हो गया. पुलिस ने बताया कि ये चोर दिल्ली से गाड़ियों की चोरी करके मेरठ और गाज़ियाबाद में बेचा करते थे. साथ ही साथ इस गिरोह के कई और लोग दूसरे राज्यों में कार्य करते हैं जिसको पकड़ने के लिए पुलिस अब नई रूप से योजना बना रही है.
तस्वीरें - सांकेतिक