16 साल की बेटी को घर पर अकेला छोड़ गए थे माता-पिता, लौटे तो पलंग पर मिली इस हाल में

16 साल की  बेटी को घर पर अकेला छोड़कर 12 जुलाई को उसके माता-पिता खेत में काम करने गए थे। दोपहर बाद जब घर लौटे तो देखा कि बेटी (Daughter suicide) पलंग पर सो रही है। उन्होंने उसे आवाज देकर हिलाया-डुलाया किन्तु कुछ नहीं बोली। फिर उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया।यहां डॉक्टरों ने जहर सेवन के बारे में बताया तो वे हैरान रह गए। गंभीर हालत में उसे शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, यहां इलाज के दौरान सोमवार की सुबह उसकी देहांत (Daughter suicide) हो गई। बेटी की मौत से माता-पिता सदमे में हैं।
loading...
घटना सरगुजा जिले के लुंड्रा थाना अंतर्गत ग्राम डहोली की है। पुष्पलता प्रजापति पिता किशुन प्रजापति 16 साल ने 12 जुलाई की दोपहर जहर सेवन (Daughter suicide) कर लिया था। किशोरी इस दौरान घर पर अकेली थी, उसके माता-पिता खेत गए हुए थे। जब माता-पिता वापस लौटे तो देखा कि बेटी सोई हुई है।

मां ने उसे उठाया किन्तु वह नहीं उठी। इसके बाद परिजन उसे इलाज के लिए लुंड्रा अस्पताल लेकर गए। उसकी हालत गंभीर देख डॉक्टरों ने उसे अंबिकापुर रेफर कर दिया। परिजन पीडि़ता को शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती करा दिए। यहां डॉक्टरों ने कहा कि उसने जहर सेवन (Daughter suicide) कर लिया है।

दो दिन बाद तोड़ दिया दम

दो दिनों तक उसका इलाज चलता रहा किन्तु हालत सुधरने की बजाय बिगड़ती चली गई। अंतत: सोमवार की सुबह उसने दम तोड़ (Daughter suicide) दिया। पुलिस मर्ग कायम कर मामले की तलाश कर रही है।