12 वर्ष के मृगेंद्र को मिला लंदन की वर्ल्ड रिकार्ड्स यूनिवर्सिटी से डॉक्टरेट करने का आमंत्रण, दंग हो जाएंगे इनकी उपलब्धियां जानकर

होनहार बिरवान के होत चीकने पात यानि “जो पौधा आगे चलकर बड़ा वृक्ष होने वाला होता है, छोटा होने पर भी उसके पत्तों में कुछ-न-कुछ चिकनाई होती है।” यह कहावत हमारे बीच बहुत प्रचलित है। किन्तु हम यहां पर किसी पौधे की बात नहीं बल्कि 12 वर्ष के मृगेंद्र की बात कर रहे हैं। जिनकी उपलब्धियां उम्र से कई गुना अधिक हैं। मृगेंद्र राज जिनका दूसरा विख्यात नाम  ‘अभिमन्यु’ है । ये अब तक 135 किताबें लिख चुके हैं। 
loading...
इसके अलावा ये छोटे उस्ताद चार वर्ल्ड रिकार्ड और सैकड़ों दूसरे अवार्ड भी अपने नाम कर चुके हैं। अब मृगेंद्र को लंदन स्थित वर्ल्ड रिकार्ड्स यूनिवर्सिटी की ओर से सीधे डॉक्टरेट करने का आमंत्रण मिला है। मृगेंद्र का जन्म अयोध्या में हुआ है। इन्होंने कम उम्र में ही इतनी सारी उपलब्धियां प्राप्त कर ली हैं कि सोंचना भी कठिन हो जाता है। ये रामायण के 51 पात्रों पर किताबें लिख चुके हैं। 

जिसके लिए इन्हें पांचवा विश्व रिकार्ड भी मिल सकता है। इसके अलावा इन्होंने 78 बड़ी हस्तियों की बायोग्राफी भी लिखी है। इन बड़ी हस्तियों में सलमान खान, ऐश्वर्या राय, अनूप जलोटा, प्रकाश झा, रतन नवल टाटा, बीके बिरला, लावारिस लाशों के मसीहा समाजसेवी मोहम्मद शरीफ जैसे कई बड़े नाम शामिल हैं। जल्दी ही उनका नाम अमेरिका की संस्था गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज हो सकता है। 
रामनगरी का नाम रौशन करने वाले 12 वर्ष के मृगेंद्र अभी जिंगल बेल स्कूल की कक्षा सात में पढ़ते हैं। इनको छह वर्ष की उम्र में ही यंगेस्ट पोएट ऑफ दि वर्ल्ड रिकार्ड  का खिताब मिल चुका है। इनकी प्रतिभा को बड़े बड़े सलाम करते हैं। किन्तु मृगेंद्र राज को पांचवे वर्ल्ड रिकार्ड के लिए बहुत फीस देनी होगी। इस संबध में इनके पिता राजेश पांडेय कहते हैं कि ‘मैं अपने जीवन की सारी पूंजी मृगेंद्र का भविष्य संवारने में लगा रहा हूं। किन्तु पांचवे विश्व रिकार्ड के लिए इतनी फीस जुटाना मुश्किल हो रहा है।’